व्यक्तित्व

व्यक्तित्व - स्वामी अग्निवेश: मानवतावादी, राजनेता या रियलिटी शो के किरदार

Posted by Divyansh Joshi on



सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश के साथ मंगलवार को कुछ लोगों ने झारखंड के पाकुड़ जिले में मारपीट की थी. खुद पर हुए इस हमले को स्वामी अग्निवेश ने बुधवार को अपनी हत्या की साजिश बताते हुए इस घटना की न्यायिक जांच कराए जाने की मांग की है. 79-साल के आर्य समाजी, बंधुआ मज़दूरों के लिए लंबी लड़ाई लड़नेवाले और नोबेल जैसा सम्मानित मानेजाने वाले 'राइट लाइवलीहुड अवॉर्ड' पा चुके स्वामी अग्निवेश के व्यक्तित्व को लेकर भी कई तरह की राय है. 1939 में एक दक्षिण भारतीय परिवार में जन्मे स्वामी अग्निवेश शिक्षक और वकील रहे हैं. लेकिन साथ ही उन्होंने एक टीवी कार्यक्रम के एंकर की भूमिका भी निभाई है और रियलटी टीवी शो बिग बॉस कार्यक्रम का हिस्सा रह चुके हैं.उन्होंने एक राजनीतिक दल आर्य सभा की शुरुआत की थी और आपातकाल के बाद हरियाणा में बनी सरकार में मंत्री रहे.बंधुआ मज़दूरी के ख़िलाफ़ उनकी दशकों की मुहिम तो जगज़ाहिर है, उन्होंने बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की शुरुआत की और रूढ़िवादिता और जातिवाद के ख़िलाफ़ लड़ने का दावा करते हैं. अस्सी के दशक में उन्होंने दलितों के मंदिरों में प्रवेश पर लगी रोक के ख़िलाफ़ आंदोलन चलाया था वहीं उन्होने साल 2011 के जनलोकपाल आंदोलन के समय अरविंद केजरीवाल पर धन के ग़बन का लगाया उनका आरोप आज भी लोगों को याद है.बाद में उन्होंने यहां तक कह दिया कि केजरीवाल अन्ना हज़ारे की मौत चाहते थे. ऐसा माना जा रहा है कि उन पर झारखंड में हुए हमले की वजह उनके विवादास्पद बयान रहे होंगे, लेकिन वे ऐसे बयान हमेशा से देते रहे हैं, लेकिन शायद सोशल मीडिया से पहले की बात और थी, अब की बात और है