क्षेत्रीय

जबलपुर लाइव

Posted by khalid on



1 आयुर्विज्ञान के प्रशासनिक भवन का शिलायान्यस करने राज्यपाल आनंदी बेन और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जबलपुर पहुँचे। इस दौरान मध्यप्रदेश के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंहए चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री शरद जैन सहित कई दिग्गज नेता मौजूद रहे। राज्यपाल और मुख्यमंत्री को कार्यक्रम में तुलसी का पौधा भेंट कर स्वागत किया गया। इस मौके पर शिवराज सिंह ने मेडिकल जगत में अंग्रेजी भाषा को लेकर भी सवाल उठाया उन्होंने कहा जब अन्य देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री अपनी अपनी भाषा मे बात करते है तो हमे फिर अपनी मातृभाषा में बात करना चाहिए ।

2 केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री शरद जैन ने जबलपुर में विजयनगर बड़ी मंडी में सभी लोगो से चंदा इकट्ठा किया इस दौरान उन्होने सभी से मदद करने की अपील की । उन्होने कहा कि मुसीबत सब पर आती है लेकिन मदद करने वाला ही सबसे बड़ा होता है ।

3 जीआरपी पुलिस को बड़ी सफलता मिली है । ट्रेन में जहर खुरानी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है । इसके साथ ही चुराए गए कप्यूटर भी बरामदकिए गए है । आपको बता दे कि कटनी में रहने वाला राकेश परधानी भुसावल पैसेंजर से जबलपुर से कटनी की यात्रा कर रहा था वही ट्रैन में चार अज्ञात व्यक्तियों ने राकेश से मेल मिलाप कर दोस्ती करते हुए चाय में नसिली दवा मिलाकर चाय पिला दी जिससे राकेश बेहोश हो गया वही मौके का फायदा उठा कर चारो अज्ञात आरोपियों ने राकेश का सामान लेकर भाग गया जिसकी शिकायत राकेश ने जीआरपी थाने में की मामले की गंभीरता को लेते हुए पुलिस ने पतासाजी कर दो आरोपियों को पकड़ कर जेल भेज दिया ।।

4 एक तरफ प्रदेष और केंद्र सरकार छात्राओं और महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम दावे कर रही है दूसरी ओर कॉलेजों में छात्राओं की सुरक्षा को नजर अंदाज किया जा रहा है। जबलपुर के मानकुंवर बाई कॉलेज में छात्राओं को मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिल पा रहीं है । जिससे उनका आक्रोष फूट पड़ा और एबीवीपी के साथ मिलकर कॉलेज में प्रदर्षन कर अपनी समस्याएं प्रबंधन के सामने रखीं। छात्राओं का कहना है कि डिजिटल इंडिया के तहत छात्राओं की फीस ऑनलाइन जमा होना चाहिए लेकिन आज तक कॉलेज में इसकी सुविधा शुरू नहीं हो पाईएइसके साथ कालेज में सुरक्षा को लेकर भी कोई खास व्यवस्था नहीं है । जिसको लेकर दस सूत्रीय मांगों का एक ज्ञापन भी छात्राओं ने प्रिंसिपल को सौंपा है। वहीं प्रिंसिपल का कहना है कि छात्राओं को हर सुविधा देने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन शासन स्तर पर उतना सहयोग नहीं मिल पा रहा है जितना मिलना चाहिए।